विदेश

नेपाल विमान दुर्घटना :पायलट और कंट्रोलर अगर सूझ बुझ से काम लेते तो ना जाती 50 लोगों की जान

काठमांडू के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे में हुए दर्दनाक विमान दुर्घटना में सोमवार को 50 लोग मारे गए थे वही 21 लोगों को बचा लिया गया था I इस घटना के पीछे कारणों का पता लगाया जा रहा है लेकिन अधिकारियों ने बताया है कि अभी तक के जांच से लगता है की विमान की लैंडिग के दौरान पायलट को जो निर्देश दिया गया उसने कुछ मिनट बाद उसे नहीं माना।

निर्देश दिए जाने के दौरान विमान लैंड करने के लिए तैयार था और रनवे पर काफी नीचे उड़ रहा था, उसी समय वह जमीन से टकरा गया और आग लगने के उससे धुआं निकलने लगा। और बहुत बड़ी दुर्घटना हो गयी जिसमे ५० लोगो की जान गयी lअभी भी जाँच चल रही है ,इसके पीछे कारणों का पता लगाया जा रहा है I

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button