अंतरिम समझौते के तहत अगले महीने ईरान करेगा, चाबहार बंदरगाह भारत के हवाले!

ईरान के शहरी विकास मंत्री अब्बास अखुंदी के एक अंतरिम समझौते के तहत एक महीने में चाबहार बंदरगाह को भारतीय कंपनी के हवाले कर दिया जाएगा ताकि वहां पर काम शुरू हो सके। अखोंदी नीति आयोग द्वारा आयोजित ‘मोबिलिटी शिखर सम्मेलन’ में भाग लेने के लिये यहां आये हुए हैं। मंत्री ने कहा, ‘अंतरिम समझौते के तहत हम अब बंदरगाह (चाबहार) प्रबंधन के लिये भारतीय कंपनी को सौंपने के लिये तैयार हैं।

चाबहार बंदरगाह सिस्तान बलूचिस्तान प्रांत में है जो ऊर्जा संसाधन से भरपूर देश का दक्षिणी तट है। भारत के पश्चिमी तट से यहाँ आसानी से पहुँचा जा सकता है। इसे पाकिस्तान के ग्वादार बंदरगाह के प्रत्युत्तर के रूप में देखा जा रहा है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के साथ बैठक के बाद अखौंदी ने कहा, ‘हम पहले ही एक कदम आगे बढ़ चुके हैं।

हम भारत के साथ मिलकर बैंकिंग व्यवस्था भी शुरू करेंगे। भारत की तरफ से इसकी अनुमति भी मिल गई है। भारत, ईरान के सेंट्रल बैंक के साथ मिलकर बैंकिंग व्यवस्था की शुरुआत कर चुका है। चाबहार पोर्ट के पहले चरण का उद्घाटन दिसंबर 2017 में ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने किया था। बंदरगाह से ईरान, भारत और अफगानिस्तान जुड़ेंगे जबकि पाकिस्तान अलग रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed