भारत और अमेरिका के बीच संबंध हुए और मजबूत,जब पीएम मोदी ने ट्रंप को बताई यह बात!

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपने मित्र के रूप में वर्णित किया, और बताया कि अफगानिस्तान से अमेरिका को कुछ भी नहीं मिला है। जाने-माने पत्रकार बॉब वुडवर्ड की ताजा किताब में यह जानकारी दी गई है। वुडवर्ड अपनी किताब ‘Fear: Trump in the White House’ में लिखते हैं कि भारतीय प्रधानमंत्री की बातों को वो ध्यान से सुनते हैं और तवज्जो भी देते हैं। लेकिन इस किताब के कुछ अंशों को लेकर उनकी आलोचना भी हो रही है।

किताब के मुताबिक ट्रंप कहते हैं कि हम लोग चीन की तरह नहीं जिसकी नजर दूसरे देशों के संसाधनों पर टिकी हुई है। अमेरिका चाहता है कि अफगानिस्तान को मदद के बदले उसे कुछ हासिल हो। अमेरिका को कोई भी डील करने से पहले ये देखना होगा कि उसे क्या हासिल होता है। इसके साथ ही इस बात पर भी बल दिया गया है कि अगर आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान सहयोग नहीं करता है तो उसे मदद देने की जरूरत नहीं है।

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मेरे एक मित्र है। उन्होंने (ट्रंप) कहा, ‘‘मैं उन्हें बहुत पसंद करता हूं’’। पुस्तक ने विवाद खड़ा कर दिया था क्योंकि ऐसा बताया जाता है कि इसमें ट्रंप को अराजक, अस्थिर और अनभिज्ञ के रूप में चित्रित किया गया था। वुडवर्ड के अनुसार ट्रंप ने पिछले वर्ष 19 जुलाई को व्हाइट हाउस में एक सिचुऐशन रूम बैठक के दौरान यह प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। इससे करीब तीन सप्ताह पहले 26 जून को व्हाइट हाउस में मोदी के साथ ट्रंप की एक सफल बैठक हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed