टैकनोलजी

आसान भाषा में समझिए.. Streaming Devices क्या हैं? जानें इनका काम और इस्तेमाल का तरीका

Streaming Devices: शायद ही ऐसा कोई ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्म होगा जहां स्ट्रीमिंग डिवाइस न दिखती हों. Amazon Fire Stick या ROKU या Apple स्ट्रीमिंग डिवाइस के बारे में लगभग सभी ने सुना होगा. ये डिवाइस आज के समय में लोकप्रिय हैं, लेकिन, क्या आप जानते हैं कि स्ट्रीमिंग डिवाइस क्या है, यह कैसे काम करती हैं और यह क्या ऑफर करती हैं. अगर इन सवालों का आपके पास जवाब नहीं है तो आप सही जगह आए हैं. आज की इस खबर में हम आपको बताएंगे कि स्ट्रीमिंग डिवाइस क्या हैं और वे कैसे काम करती हैं.

स्ट्रीमिंग डिवाइस क्या हैं?

स्ट्रीमिंग डिवाइस वे हार्डवेयर हैं जो स्ट्रीमिंग सर्विस प्रोवाइडर की सहायता से टीवी या होम थिएटर से कनेक्ट होकर आपको कंटेंट (मूवी, म्यूजिक, खेल आदि) स्ट्रीम करने की सुविधा देते हैं. मार्केट में कई स्ट्रीमिंग मीडिया डिवाइस अवेलेबल हैं जैसे कि Amazon Fire Stick, ROKU, AppleTV, Google Chromecast, आदि. इन डिवाइस में कई फेमस स्ट्रीमिंग ऐप और चैनल जैसे Netflix, Hotstar, Amazon Prime Video, ROKU आदि प्री-लोडेड होते हैं. इसके अलावा आप चाहें तो बाद में अपनी पसंद के ऐप्स भी डाउनलोड कर सकते हैं. इन डिवाइस का इस्तेमाल करने के लिए आपको बस अपने टीवी में एक एचडीएमआई पोर्ट और एक इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत होती है. अलग-अलग स्ट्रीमिंग डिवाइस अलग-अलग आकार में आते हैं. इनमें क्यूब बॉक्स या यूएसबी फ्लैश ड्राइव आदि शामिल हैं.

स्ट्रीमिंग डिवाइस कैसे करते हैं काम

News Reels

इन स्ट्रीमिंग डिवाइस को काम करने के लिए इंटरनेट की ज़रूरत होती है. इन्हें इंटरनेट से कनेक्ट करना होता है. डिवाइस को टीवी के एचडीएमआई पोर्ट से कनेक्ट करना होता है और फिर इसे वाईफाई या इंटरनेट से कनेक्ट करना होता है. एक बार इंटरनेट से कनेक्ट होने के बाद, यह स्ट्रीमिंग सर्विस से डेटा प्रोसेस करना शुरू कर देते हैं. यहां यह स्पष्ट कर दें कि आपको उन स्ट्रीमिंग सर्विसेज का सब्सक्रिप्शन लेना होगा, जिनका आप इस्तेमाल करना चाहते हैं. कई स्ट्रीमिंग सर्विसेज अपने कंटेंट के लिए मासिक मेंबरशिप देती हैं, जबकि कुछ मुफ्त भी हैं. स्ट्रीमिंग डिवाइस आपको टीवी पर अपनी ऑनलाइन तस्वीरें देखने और विभिन्न स्ट्रीमिंग सर्विस पर उपलब्ध म्यूजिक सुनने की सुविधा भी देते हैं.

यह भी पढ़ें-

ट्रैवल करना होगा आसान, Digi Yatra ऐप को लॉन्च कर सरकार ने ये दिक्कतें दूर कर दी

Aslam Khan

हर बड़े सफर की शुरुआत छोटे कदम से होती है। 14 फरवरी 2004 को शुरू हुआ श्रेष्ठ भारतीय टाइम्स का सफर लगातार जारी है। हम सफलता से ज्यादा सार्थकता में विश्वास करते हैं। दिनकर ने लिखा था-'जो तटस्थ हैं समय लिखेगा उनका भी अपराध।' कबीर ने सिखाया - 'न काहू से दोस्ती, न काहू से बैर'। इन्हें ही मूलमंत्र मानते हुए हम अपने समय में हस्तक्षेप करते हैं। सच कहने के खतरे हम उठाते हैं। उत्तरप्रदेश से लेकर दिल्ली तक में निजाम बदले मगर हमारी नीयत और सोच नहीं। हम देश, प्रदेश और दुनिया के अंतिम जन जो वंचित, उपेक्षित और शोषित है, उसकी आवाज बनने में ही अपनी सार्थकता समझते हैं। दरअसल हम सत्ता नहीं सच के साथ हैं वह सच किसी के खिलाफ ही क्यों न हो ? ✍असलम खान मुख्य संपादक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button