विदेश

इजरायल ने UN में ईरान के ‘गुप्त परमाणु भंडार’ का किया खुलासा, पुरे विश्व में मची खलबली!

इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद ने एक बार फिर साबित किया कि क्यों उसे दुनिया की सर्वश्रेष्ठ एजेंसी माना जाता है। इस बार मोसाद ने एक और अविश्वनीय काम को अंजाम दिया है। मोसाद ने ईरान के परमाणु कार्यक्रम का पूरा प्लान हासिल कर लिया और इसे दुनिया के सामने ला दिया। इसी के आधार पर अमेरिका ने ईरान के साथ अपना समझौता भी तोड़ लिया।

अमेरिका द्वारा ईरान पर नए सिरे से प्रतिबंध लगाने के बाद अब इजरायल ने भी ईरान को लेकर बड़ा खुलासा किया है। आपको बता दें कि शक्तिशाली देशों के साथ हुए समझौते का मकसद ईरान को परमाणु हथियार हासिल करने से रोकना था।

परमाणु हथियार रखने के आरोप में ही अगस्‍त में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान पर नए सिरे से प्रतिबंध लगा दिए थे। आपको बता दें कि ईरान के तेल मंत्री बिजन नामदर जंगनेह ने बुधवार को कहा था, कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तेल की कीमत में हुई हालिया वृद्धि के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक की आलोचना करते हुए उस पर बाकी दुनिया को ठगने का आरोप लगाया था जिसके बाद जंगनेह ने सरकारी टेलीविजन पर कहा, मूल्य वृद्धि और बाजार को अस्थिर करने के मुख्य दोषी ट्रंप और उनकी नुकसानदेह और  गैरकानूनी नीतियां हैं।

उन्होंने ईरान की तेल बिक्री पर नवंबर से प्रभाव में आने वाले अमेरिकी प्रतिबंधों का हवाला देते हुए कहा, ट्रंप दोनों चीजें चाहते हैं। वह ईरान के तेल निर्यात को घटाना चाहते हैं और यह भी चाहते हैं कि कीमतें ना बढ़ें। तेल मंत्री ने कहा कि ट्रंप चाहते हैं कि कीमतों पर लगाम लगे तो उन्हें पश्चिम एशिया में बेवजह के हस्तक्षेप को रोकना होगा और ईरान के उत्पादन एवं निर्यात पर रोक को खत्म करना होगा।

परमाणु डील के इस मुद्दे पर पुरे देश में मतभेद है, ट्रंप के लिए गए इस फैसले में इजरायल और सऊदी अरब साथ खड़े दिख रहे है वहीँ दूसरी तरफ फ्रांस, जर्मनी और रूस जैसे ताकतवर देश ट्रम्प के लिए गए इस फैसले का घोर विरोध कर रहे है l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button