विशेष पोस्ट

अलीगढ़ शहर में जल्द ही होगी वाल्मिकी कन्या इंटर महाविद्यालय की स्थापना: राजेश राज जीवन

23 मई को चुनाव आचार संहिता समाप्त होने के बाद अलीगढ में *वाल्मीकि कन्या इण्टर कालिज के लिए नगर निगम कि भूमि जो* नोरंगाबाद के समीप है को नगर निगम बोर्ड कि बैठक में प्रस्ताव पास करा करके कन्या इण्टर कालिज के नाम आवंटित करा दूंगा – महापौर मोहम्मद फुरकान ।। 🌸
अलीगढ 24 अप्रेल 2019
वाल्मीकि समाज कि बहन बेटियों कि शिक्षा के लिए *अलीगढ़ में वाल्मीकि कन्या इण्टर कालिज बनबाने हेतु आज महर्षि वाल्मीकि जन्मोत्सव समिति के तत्वाधान में* दो पहिया वाहन रैली शीशियां पाड़ा स्तिथ जीवन भवन से जिलाध्यक्ष श्री राज कुमार खन्ना जी व महानगर अध्यक्ष श्री सुनील टूण्डा जी के नेतत्व में प्रारम्भ हुई जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेशाध्यक्ष श्री राजेश राज जीवन जी थे ।।
उक्त वाहन रैली बस अड्डा रसलगंज कथपुला सेवा भवन होते हुईं महापौर श्री मोहम्मद फुकान जी के आवास पर पहुँची जहां समिति के सैंकड़ों पदाधिकारियों ने वाल्मीकि कन्या इण्टर कालिज के लिए जमीन आवंटित करने कि व महापौर मो०फुरकान जिन्दाबाद के गगन भेदी नारे लगाए जिससे महापौर अपने आवास से बाहर आ गए जिस पर समस्त वाल्मीकि समाज के लोंगों ने उनको फूल मालाओं से लाद कर स्वागत किया ।।
इस अबसर पर महापौर जी ने *श्री राजेशराज जीवन जी को* अपने बीच देखकर मुझे खुशी हो रही है उनको मालाएँ पहनाकर स्वागत करना चाहता हूं इसी प्रकार पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष श्री राज कुमार खन्ना व महानगर अध्यक्ष श्री सुनील टुंडा सहित उपस्तिथ केई पार्षदों का भी स्वागत किया ।।
श्री राजेश राज जीवन जी ने ज्ञापन पड़कर सुनाते हुए कहा कि कितना बड़ा भारत का दुर्भाग्य है कि जो समाज भृस्टाचार का नही ईमानदारी का ओर अपने बीसों उंगलियों कि कड़ी मेहनत कि कमाई का एक-एक पैसा खाता हो शहर जिला प्रदेश व देश मे लोंगों कि हजारों वर्षों से सेवा कर भारत को स्वच्छ और सुन्दर बनाता हो उस समाज कि बेटियां जब कालिजों में एडमिशन के लिए जाते हैं तो उनके एडमिशन नहीं हो पाते बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है इसलिए अलीगढ में वाल्मीकि कन्या इण्टर कालिज के लिए नोरंगाबाद के समीप नगर निगम कि जो भूमि है जिस पर सरकारी ट्यूबल लगा है व बॉण्डरी बाल हो रही है उक्त भूमि को नगर निगम कि बोर्ड कि बैठक में प्रस्ताव पारित कराकर कन्या इण्टर कालिज के लिए आवंटित किया जाए ।।
महापौर मोहम्मद फुरकान जी ज्ञापन जिलाध्यक्ष श्री राज कुमार खन्ना महानगर अध्यक्ष श्री सुनील टुंडा संरक्षक गणों में श्री महेंद्र राठौर श्री शिशुपाल वाल्मीकि श्री सुनील चौहान श्री छोटे लाल ठेकेदार श्री रूपेश उम्मेद श्री प्रदीप मदन लाल श्री रवि राजे श्री देवकी नंन्दन तिलक श्री उत्तम उज्जेनवाल श्री राजू सोल्जर श्री संदीप चोधरी श्री सूरज पाल वाल्मीक श्री मनोज चौहान श्री विकास चेतन श्री अमन जीवन श्री अमर रागी आदि वरिष्ठ समाज सेवीयों ने संयुक्त रूप से ज्ञापन दिया ।।
ज्ञापन लेने के बाद महापौर मोहम्मद फुरकान जी ने स्वागत के लिए सभी का दिल से शुक्रिया अदा करते हुए कहा है कि हमारे यहाँ तो वोट पड गए (चुनाव हो गए) हैं परंतु देश मे 23 मई तक चुनाव आचार संहिता लगी रहेगी और आप सबको आस्वासन देता हूँ 23 मई के बाद वाल्मीकि कन्या इण्टर कालिज के लिए नगर निगम बोर्ड कि बैठक में उक्त स्थल पर सर्व सम्मिती से प्रस्ताव पास करा करके बेटीयों कि शिक्षा के लिए शिक्षा का मंदिर खुदा ने चाहा बन बाके रहेंगे ।।
महापौर मोहम्मद फुरकान जी कि घोषणा करने पर उपस्तिथ लोंगों में उत्त्साह भर गया ओर सभी प्रफुल्लित होकर मोहम्मद फुरकान व श्री राजेश राज जीवन जिन्दाबाद के गगन भेदी नारे लगाने लगे ।।
अंत में जिलाध्यक्ष श्री राज कुमार खन्ना जी व महानगर अध्यक्ष श्री सुनील टुंडा जी ने कहा कि इस भयंकर गर्मी में जब आदमी घर से बाहर निकल नहीं पा रहा है आप सैंकड़ों कि सँख्या में हमारे साथ बहन बेटियों को शिक्षा के मंदिर हेतु इस धर्म और न्याय कि लड़ाई में सहयोग दिया है हम दिल से धन्यबाद देते हैं ।।
इस वाहन रैली में सर्व श्री हरिप्रशाद सूद श्री रिंकू वाल्मीकि श्री सचिन राज श्री अमित चौहान श्री योगेश चोटल श्री कन्हैया चित्रकार श्री मिलन जीवन श्री राजेश राजा श्री संजय स्वरूप श्री अविनाश श्री श्री कपील चौहान श्री गुड्डू बेंजी श्री विपिन मुंशी श्री गौरव चोटल श्री कमल राजपूत श्री मनीष राठौर श्री रविन्द्र राठौर श्री रवि जीवन श्री हजारी लाल त्यागी श्री राहुल टांक श्री गौरव चोटल श्री कुनाल विवेकी श्री रजत केला श्री सुरेंदर चौहान श्री नंदा विस्सो श्री बिशाल जीवन श्री शिवम टुंडा श्री अमित टांक श्री रोनक चौहान श्री तरुण ठेकेदार श्री रोबिन बाबू श्री सोनू वाल्मीकि आदि बड़ी संख्या में समिति के समस्त पदाधिकारीगण उपस्तिथ थे ।।

Aslam Khan

हर बड़े सफर की शुरुआत छोटे कदम से होती है। 14 फरवरी 2004 को शुरू हुआ श्रेष्ठ भारतीय टाइम्स का सफर लगातार जारी है। हम सफलता से ज्यादा सार्थकता में विश्वास करते हैं। दिनकर ने लिखा था-'जो तटस्थ हैं समय लिखेगा उनका भी अपराध।' कबीर ने सिखाया - 'न काहू से दोस्ती, न काहू से बैर'। इन्हें ही मूलमंत्र मानते हुए हम अपने समय में हस्तक्षेप करते हैं। सच कहने के खतरे हम उठाते हैं। उत्तरप्रदेश से लेकर दिल्ली तक में निजाम बदले मगर हमारी नीयत और सोच नहीं। हम देश, प्रदेश और दुनिया के अंतिम जन जो वंचित, उपेक्षित और शोषित है, उसकी आवाज बनने में ही अपनी सार्थकता समझते हैं। दरअसल हम सत्ता नहीं सच के साथ हैं वह सच किसी के खिलाफ ही क्यों न हो ? ✍असलम खान मुख्य संपादक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button