विशेष पोस्ट

अविश्वास प्रस्ताव LIVE: राहुल गांधी ने PM मोदी को लोकसभा में दी मुन्नाभाई वाली जादू की झप्पी!

संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में गजब वाकया देखने को मिला। लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राहुल गांधी ने अपने भाषण के अंत में सामने जाकर वहां बैठे पीएम नरेंद्र मोदी को गले लगा लिया। दरअसल, शुरुआत में पीएम मोदी समझ ही नहीं पाए कि आखिर राहुल उनके पास क्यों आए हैं। राहुल आए और उनसे कुछ कहा। जब तक पीएम मोदी कुछ समझ पाते, राहुल ने झुक कर उन्हें गले लगा लिया और जाने लगे, लेकिन यह देखकर पीएम मोदी ने उन्हें फिर अपने पास बुलाया और उनसे हाथ मिलाया। यह पल कांग्रेस और बीजेपी की राजनीति में कम ही देखने को मिलते हैं।

राहुल गांधी अपने भाषण के आखिर में कहा कि, ‘आपके लिए मैं भले ही पप्‍पू हूं, आपके दिल में मेरे लिए नफरत हो सकती है, लेकिन मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं।’ बस इतना ही कहना था, कि राहुल गांधी अपनी जगह छोड़कर प्रधानमंत्री मोदी के पास गए और उनसे हाथ मिलाते हुए उन्हें जादू की झप्‍पी दे दी। राहुल गांधी और पीएम मोदी को यूं गले लगता देख जैसे पूरा सदन हंस पड़ा। पीएम मोदी ने भी राहुल गांधी का मुस्‍कुराकर अभिवादन किया।

बता दें कि मोदी सरकार के खिलाफ लोकसभा में शुक्रवार को सुबह 11 बजे से अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा चल रही है। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही जय श्रीराम के नारे लगाए गए। स्‍पीकर सुमित्रा महाजन ने बहस बीच में रोकते हुए कहा ‘जिस पर आप लोग आरोप लगाते हैं, उसे भी बोलने का अधिकार है’। उन्‍होंने लोकसभा सदस्‍यों से भाषा पर ध्‍यान देने और डेकोरम मेंटेने करने की अपील की। अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने बोलना शुरू किया है।

अपने भाषण में राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा ‘अब पीएम मोदी ईमानदार नहीं रहे, इसलिए वह मुझसे नजर नहीं मिला पा रहे हैं’। राहुल गांधी ने कहा कि पूरे देश ने देखा कि मैंने साफ-साफ बोला है इसलिए मोदी मुझसे नजर नहीं मिला पा रहे हैं। राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी बिना एजेंडे के चीन जाते हैं और डोकलाम पर बात नहीं करते हैं। उन्‍होंने सैनिकों के साथ धोखा किया है। राहुल गांधी ने कहा कि देश में लोग मारे जा रहे हैं, पीटे जा रहे हैं, कुचले जा रहे हैं लेकिन पीएम मोदी मुंह से एक शब्‍द नहीं निकाल रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button