विशेष पोस्ट

वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे स्वामी अग्निवेश पर हमला, जानिए हमले की वजह!

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर लोगों के अंतिम दर्शन के लिए दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में रखा गया था। इस दौरान देशभर से वाजपेयी को चाहने वाले लोग उनके अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे थे।साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश भी अंतिम श्रद्धांजलि देने बीजेपी मुख्यालय पहुँचे थे, इसी बीच मुख्यालय के बाहर कुछ लोगों ने स्वामी अग्निवेश के साथ मारपीट कर उन्हें अपमानित किया। विरोध के चलते अग्निवेश अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि नहीं दे पाए और उन्हें वापस लौटना पड़ा।

दरअसल स्वामी अग्निवेश पर नक्सलियों से सांठगांठ और हिंदू धर्म के खिलाफ दुष्प्रचार का आरोप है। जिस कारण भारत में अनेकों अवसरों पर उनके खिलाफ विरोध-प्रदर्शन हुए हैं। इस कारण जब स्वामी अग्निवेश वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे वहाँ मौजूद लोगों की भीड़ का उनके प्रति गुस्सा मारपीट में बदल गया।

स्वामी अग्निवेश ने कहा कि मेरे साथ हाथापाई हुई है और मुझे अपमानित भी किया गया। मीडिया से बातचीत में अग्निवेश ने कहा मैं अटल जी को श्रद्धा सुमन अर्पित करने अपने आर्य समाज के साथियों के साथ गया था। हम लोग बीजेपी मुख्यालय के नजदीक पहुँच गए थे। वहां पहुँचने के बाद मैंने हर्षवर्धन जी से फोन पर बात की तो उन्होंने कहा कि आप आराम से भीतर आ जाइए। इससे पहले भी मेरी उनसे बात हो चुकी थी। तभी अचानक से मेरे खिलाफ नारेबाजी हुई और लोग गद्दार कहने लगे, मुझे बुरी तरह से मारा। हम दो-तीन लोग थे।

अग्निवेश सबको समझाने की कोशिश कर रहे थे कि आज के दिन प्लीज ऐसा मत कीजिए क्योंकि आज गलत संदेश जाएगा। मगर ये लोग नहीं माने। उन्होंने कहा जब हम लोग सुरक्षा गेट पार कर दूसरी तरफ गये तो वहां भी ये लोग आ गये और फिर हमला कर दिया। मैं हाथजोड़ कर कहने लगा कि भाई ये मत करो। मुझसे क्या परेशानी है। फिर हमें मैं जैसे तैसे बचकर पुलिस की जीप के पास पहुंचा और अपनी जान बचाई। पुलिस की गाड़ी में बैठकर मैं जंतर मंतर आया। उन लोगों ने पुलिस की गाड़ी पर भी हमला किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button