विशेष पोस्ट

पकिस्तान: इमरान सरकार का भारत को परमाणु हमले की धमकी।

पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन के साथ उसकी नीयत में भी बदलाव की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन भारत को लेकर इमरान खान की सरकार भी पुराने ढर्रे पर नजर आ रही है। इमरान खान को पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बने दो दिन भी नहीं बीते कि उनकी सरकार ने भारत को तेवर दिखाने शुरू कर दिए।

सोमवार को 21 सदस्यों वाली इमरान खान कैबिनेट के 16 मंत्रियों ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। विदेश मंत्री की जिम्मेदारी शाह महमूद कुरैशी को दी गई। पदभार ग्रहण करते ही शाह महमूद ने भारत के खिलाफ न सिर्फ दुष्प्रचार किया, बल्कि वो परमाणु बम तक पहुंच गए। पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक, शाह महमूद ने अपने संबोधन में कहा, ‘मैं भारत के विदेश मंत्री को बताना चाहता हूँ कि हम सिर्फ पड़ोसी नहीं हैं, बल्कि परमाणु शक्तियां भी हैं। हम दोनों के पास बहुत सारी समान चीजें हैं।’

शाह मोहम्मद ने कहा, ‘हमारे मसले जटिल हैं और हमें इन्हें सुलझाने में परेशानियों का सामना करना पड़ेगा लेकिन हमें बातचीत करनी होगी। हमें यह स्वीकार करना होगा कि हम परेशानियों झेल रहे हैं। हमें यह मानना होगा कि कश्मीर एक सच्चाई है। इस्लामाबाद में जो घोषणा हुई थी वह अब इतिहास का एक हिस्सा है।’

शाह महमूद ने ये कहा कि भारत और पाकिस्तान को बिना किसी रुकावट के लगातार बातचीत करनी होगी और देश को हमें आगे बढ़ना होगा। यानी बातचीत के साथ ही सरहद पार से परमाणु बम होने की आवाजें भी भारत को चेताती रही हैं। ऐसे में नया पाकिस्तान बनाने के नारे के साथ सत्ता में आए इमरान खान और उनकी सरकार भी अगर कश्मीर और परमाणु संपन्नता तक ही सीमित रही तो शांति बहाली का रास्ता कितना सफल हो पाएगा, ये बड़ा सवाल है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button