विशेष पोस्ट

मराठा आंदोलन: औरंगाबाद आंदोलन का हिंसात्मक रूप, फूंकी गाड़ियां और सांसद को घसीटा!

मराठा आंदोलन: एक बार फिर महाराष्ट्र में मराठा आंदोलन की आग भड़क उठी है। मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ता औरंगाबाद में जल समाधि प्रदर्शन कर रहे हैं। मोर्चा के दौरान कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को औरंगाबाद के गंगापुर में एक ट्रक को आग के हवाले कर दिया। इसके अलावा मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के दौरान अपना सिर भी मुंडवाया।

महाराष्ट्र में मराठा संगठनों ने मंगलवार को बंद का आह्वान किया था। सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर कल एक 27 वर्षीय व्यक्ति ने काकासाहब शिंदे एक पुल से गोदावरी नदी में कूद गया था। उसे नदी से निकालकर अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बताया जा रहा है कि आत्महत्या करने वाले युवक के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पहुंचे शिव सेना सांसद चंद्रकांत खैरे की गाड़ी पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया। आंदोलन की भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। वहीं भीड़ ने पुलिस पर पथराव करने के साथ ही फायर ब्रिगेड़ की गाड़ी में भी आग लगा दी गई है।

कई प्रदर्शनकारियों ने सिर मुंडवा कर अपना विरोध भी जताया। इस बीच मराठा समुदाय की नाराजगी को देखते हुए औरंगाबाद के डीएम उदय चौधरी ने मराठा क्रांति मोर्चा की अधिकांश मांगे मान ली है। मराठा संगठनों की इस धमकी के बाद स्थगित कर दी कि वे कार्यक्रम में बाधा पहुंचायेंगे। शिंदे की मौत के बाद महाराष्ट्र के कई हिस्सों में नये सिरे से प्रदर्शन शुरु हो गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button