विशेष पोस्ट

केरल: भीषण जलप्रलय ने मचाई तबाही 3 लाख से ज्यादा लोग बेघर, 20 हजार करोड़ का नुकसान!

केरल में आई बारिश की तबाही जैसे कभी न खत्म होने वाली त्रासदी बन गई है। तिरुवनंतपुरम, एर्नाकुलम समेत कई जिलों में शुक्रवार रात तक 324 लोगों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल पहुँचे और उन्होंने बाढ़ ग्रस्त इलाकों का हवाई दौरा भी किया। इस बीच राज्य में युद्धस्तर पर राहत और बचाव का काम जारी किया गया।

कोच्चि पहुँचने पर पीएम मोदी ने सबसे पहले वहां के मुख्यमंत्री और आला अफसरों के साथ बाढ़ के हालात पर चर्चा की। पीएम मोदी ने बाढ़ राहत कोष से केरल को 500 करोड़ की मदद का भी ऐलान किया है। इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी 100 करोड़ रुपये की मदद का ऐलान कर चुके हैं।

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने केरल को मदद राशि के तौर पर 5 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। साथ ही उन्होंने 245 फायरमैन को नावों के साथ भेजने का फैसला किया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ प्रभावित केरल के लिए 10 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया। केरल में बाढ़ के कहर से 3।14 लाख लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है। 2:5 लाख लोग राहत शिविरों में रहने को मजबूर हैं। साथ ही अब तक प्रारंभिक मूल्यांकन के अनुसार केरल को 19,512 करोड़ का नुकसान हुआ है।

दिल्ली सरकार ने यह फैसला लिया है कि आम आदमी पार्टी के सभी विधायक अपनी एक महीने की सैलरी केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजेंगे। तमिलनाडू सरकार ने केरल के लिए 5 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। साथ ही 500 मिट्रिक टन चावल और 300 मिट्रिक टन पावडर दूध भी भेजने का फैसला किया है। तमिलनाडू इससे पहले भी 5 करोड़ रुपये देने का ऐलान कर चुकी है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केरल में भयावह बाढ़ से हुए जानमाल के भारी नुकसान पर दुख जताते हुए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि इसे अविलंब राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button