भारत

पाकिस्तान ने LoC और IB पर स्थित भारतीय चौकियों पर साधा निशाना ! जवान घायल l

जम्मू कश्मीर : जम्मू और कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिले में सैकड़ों सीमावर्ती ग्रामीणों के लिए जीवन 2018 की शुरुआत के बाद से तिलपेन पर है।

सीमा पार से भारी गोलाबारी ने अपने जीवन को आभासी रुक कर दिया है l भारत-पाकिस्तान सीमा पर भारतीय सेना अपने कदम पीछे करने के मूड में नहीं है। हालांकि दोनों देशों के तनाव के बीच सीमा के ग्रामीण इलाकों में भारी नुकसान हो रहा है।

उड़ी सेक्टर के जाने पीर बाबा पोस्ट पर पाक की भारी गोलाबारी में सेना की 17 जाट का जवान परमवीर सिंह घायल हो गया। उन्हें श्रीनगर के आर्मी बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया। उड़ी के एसडीपीओ जावेद अहमद ने बताया कि उड़ी सेक्टर के माइक इलाके में तड़के करीब 4:30 बजे से पाकिस्तान ने करीब आधे घंटे तक फायरिंग की।

भारतीय सेना के अधिकारी ने कहा कि इस वक्त हमारा विश्वास है कि पाकिस्तान की सेना पर दबाव बनाया रखा जाए। जब तक पाक आर्मी खुद अपने कदम पीछे नहीं करती है। उन्होंने कहा कि हम भी देखते हैं कि कब तक पाकिस्तान यह दबाव झेल पाता है।

अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान की सेना की मदद से ही घुसपैठ की कोशिश की जाती हैं। अब तक 300 से 400 आतंकियों ने घुसने की कोशिश की है। जिनमें से ज्यादातर को सेना ने मार गिराया है। उन्होंने बताया कि एलओसी के पास बलोनी, कलाल, केरन और डोडा जैसे इलाकों में पाकिस्तान की चौकियों को गिराया जा चुका है।

अब तक, राज्य सरकार इन सीमाओं के गोलाबारी के लिए घुटने-झटका प्रतिक्रियाओं के साथ ही उत्तर दे रही है। सीमा पार से भारी गोलाबारी ने अपने जीवन को आभासी रुक कर दिया है

इस साल पाकिस्तान की तरफ से दो बार घुसपैठ की कोशिश की जा चुकी है और सैकड़ों बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया है। भारत की तरफ से मुंहतोड़ जवाब दिए जाने के बाद पाकिस्तान की हरकतों में बदलाव किया जा सकता है।

इस साल पाक की गोलाबारी में 21 लोगों की जान जा चुकी है। इनमें 12 सुरक्षाकर्मी शामिल हैं। 80 से अधिक लोग घायल हुए हैं, जिनमें ज्यादातर नागरिक हैं। बुधवार को राजोरी जिले के सुंदरबनी, केरी तथा जम्मू जिले के अखनूर सेक्टर के खौड़ इलाके में पाक ने गोलाबारी की थी।

पुलिस ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू और कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के साथ आगे के पदों और गांवों को निशाना बनाने, सीमा पार से भारी गोलाबारी का सहारा लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button