विशेष पोस्ट

चिंताजनक सर्वे : दुनिया में आत्महत्या करने वाली महिलाओं में, भारत की महिलाएं भी बहुत आगे!

भारतीय महिलाओं को लेकर दुनियाभर में किए गए एक सर्वे में बुरी खबर सामने आई है। सर्वे के दौरान साल 2016 में दुनिया भर में जितनी भी महिलाओं ने आत्महत्या की उनमें ज्यादातर भारतीय महिलाएं थीं। आंकड़ों के मुताबिक 2016 में आत्महत्या करने वाली महिलाओं की विश्व में कुल जनसंख्या के मामले में ये आंकड़ा 37 फीसदी रहा, जबकि पुरुषों में 24:3 फीसदी।

यह बात लैंसट पब्लिक हेल्थ जनरल में प्रकाशित हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक आत्महत्या करने वालों में ज्यादातर शादीशुदा महिलाएं शामिल हैं। रिसर्च से जुड़ी एक शोधकर्ता ने कहा है कि भारतीय परिवेश ये माना जाता है कि महिलाओं के लिए शादी अपेक्षाकृत कम सुरक्षा के भाव से जुडी होती है।

महिलाओं के आत्महत्या करने के मुख्य कारण हैं कि उनकी कम उम्र में शादी हो जाना, कम उम्र में माँ बन जाना, अरेंज मैरिज, पति और सास द्वारा प्रताड़ित करना और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर न होना। इन सभी कारणों से महिलाएं मानसिक रूप से बहुत कमजोर हो जाती हैं।

इस तरह के तनावों से हर पल झूझ रही महिलाओं को इन तनावों उभरने के लिए उनके पास न तो कोई साधन होता है और न ही कोई उनकी मदद करता है। जिस कारण महिलाएं बेबस होकर आत्महत्या जैसा रास्ता अपनाती है

रिपोर्ट के अनुसार साल 1990 के बाद से ये आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं। 1990 से लेकर 2016 तक इसमें 40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 2016 में भारत में अनुमानित तौर पर 2,30,314 लोगों ने आत्महत्या की थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button